संगीतमय पारिवारिक फ़िल्म है “सनम दिल ले गइल”

संगीतमय पारिवारिक फ़िल्म है “सनम दिल ले गइल”

भोजपुरी फिल्मो के दर्शकों में युवाओ की संख्या ज्यादा है। और युवावर्ग अक्सर प्रेम कहानी या संगीतमय फिल्में ही ज्यादा पसंद करते हैं। अगर पहले के हिट फिल्मो पर गौर करें तो इसमें संगीतमय फिल्मो की संख्यां ज्यादा है। दर्शकों के इसी पसंद को निर्माता पप्पू कुमार ने अपने फ़िल्म ‘सनम दिल ले गइल’ के जरिये कैश करने की कोशिश की है। इसे आप फिल्मो की गहरी समझ भी कह सकते हैं। एस डी मूवी मेकर्स के बैनर तले बनी फ़िल्म सनम दिल ले गइल बन कर तैयार है और शीघ्र ही पुरे बिहार और झारखण्ड में एक साथ रिलीज होने वाली है। फ़िल्म के निर्देशक रामाश्रय राज हैं।

 

रामाश्रय राज प्रसिद्द गीतकार हैं। इन्होंने भोजपुरी,अंगिका,खोट्ठा इत्यादि कई भाषाओं में गीत लिखे हैं। फ़िल्म सनम दिल ले गइल के विषय में निर्माता पप्पू कुमार का कहना है की संगीत इस फ़िल्म का महत्वपूर्ण पक्ष है। हर वर्ग को ध्यान में रख कर एक बेहतर फ़िल्म के निर्माण की कोशिश हमने और हमारे टीम ने की है। अब रिलीज के बाद दर्शकों के प्रतिसाद का हमे इंतज़ार है। फ़िल्म के निर्देशक रामाश्रय राज ने बताया की फ़िल्म की कहानी के अनुरूप इसमें नए चेहरे ही चाहिए थी । और अभिनन्दन आभिस् और संगीता सिंह के रूप में मेरी खोज समाप्त हुई । इनदोनो ने उम्दा अभिनय किया है। अन्य कलाकारों में पूर्व कला संस्कृति मंत्री विनय बिहारी,प्रसिद्द हास्य कलाकार आनंद मोहन,श्रवण साज,संतोष गुप्ता और लवली सिंह हैं। संगीतकार अलोक झा एवम् डी ओ पी उत्तम सिंह हैं। गीत-कथा-पटकथा व निर्देशक रामाश्रय राज हैं। फ़िल्म में कई नामचीन गायकों की आवाज है जिसमे उदित नारायण,अलोक कुमार,पामेला जैन उल्लेखनीय हैं।————-सर्वेश कश्यप

Print Friendly

Comments are closed.