Ritesh Pandey – Neelam Giri Change The Trend Of Bhojpuri Songs

Ritesh Pandey – Neelam Giri Change The Trend Of Bhojpuri Songs

रितेश पांडे, नीलम गिरी ने भोजपुरी गानों का माहौल किया चेंज

भोजपुरी सिने जगत में हमेशा नया करने वाली म्यूजिक कंपनी वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स भोजपुरी ने एक बार फिर नई पहल की है। जी हां, वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स भोजपुरी के ऑफिसियल युट्यूब चैनल से भोजपुरी गानों का माहौल चेंज करने वाला गाना घंटी रिलीज किया गया है। जिसमें सुपरस्टार रितेश पांडे और ट्रेंडिंग गर्ल नीलम गिरी की लाजवाब केमिस्ट्री पति-पत्नी के रूप में कमाल की लग रही है।  वाकई इस गाने ने भोजपुरी सांग के माहौल को चेंज कर दिया है।

घंटी गाने को लेकर रितेश पांडे ने कहा कि वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स के ओनर रत्नाकर कुमार की सोच बड़ी अच्छी थी कि कुछ हटकर गाना बने। वैसा ही उन्होंने परिवर्तन भी किया है। इतना अच्छा पारिवारिक गाना बनाने में जो विशेष सहयोग है, वह वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स का है।

गौरतलब है कि पति की कथा और पत्नी की व्यथा को प्रस्तुत करने वाला यह गाना घंटी की सबसे खास बात यह है कि होली के माहौल में इस गाने का आना बहुत ही बड़ी बात है। यह दो स्टोरी पर गाना बनाया गया है, एक तरफ पति कथा करने में व्यस्त है तो दूसरी तरफ पत्नी की व्यथा का वर्णन किया गया है। जोकि बहुत ही सराहनीय है। लोगों ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे ही गाने आने चाहिए तभी भोजपुरी एल्बम के गानों में बदलाव आएगा, ताकि हर वर्ग के दर्शकों का फुल टू धमाल मनोरंजन हो सके और भोजपुरी एल्बम के गानों पर उंगली ना उठ सके। लोग इस गाने को खूब पसंद कर रहे हैं। इस गाने में नयापन फील हो रहा है और  कंपनी की क्रिएटिविटी भी इस गाने में दिखती है। इससे पता चलता है कि म्यूजिक कंपनी वर्ल्डवाइड रिकॉर्ड्स का मकसद साफ दिखता है। कि आने वाले दिनों में ऐसे गानों की वजह से ही भोजपुरी अल्बम सांग की मेकिंग में परिवर्तन दिखेगा।

उल्लेखनीय है कि वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स प्रस्तुत घंटी नामक इस गाने को रितेश पांडे और अंतरा सिंह प्रियंका ने गाया है जबकि इसको लिखा है जेडी बहादुर ने। इसका संगीत छोटू रावत ने तैयार किया है। परिकल्पना छोटन पांडे ने की है, डायरेक्टर रवि पंडित हैं। कोरियोग्राफर राहुल रितिक, एडिटर दीपक रावत हैं।

आप भी एक बार देखें रितेश पांडे और नीलम गिरी का धमाल सांग ‘घंटी”, आप इसे बार बार देखना चाहेंगे।

Print Friendly, PDF & Email

Comments are closed.