शिक्षाविदों और उद्योग के बीच जागरूकता लाएगी उत्पल चक्रवर्ती लिखित पुस्तक ‘क्वांटम कम्प्यूटिंग एंड फ्यूचर’

उत्पल चक्रवर्ती द्वारा लिखित पुस्तक का नाम ‘क्वांटम कंप्यूटिंग एंड फ्यूचर’ है, जो क्वांटम कंप्यूटिंग के महत्व पर शिक्षाविदों और उद्योग के बीच जागरूकता लाएगी और क्वांटम-एआई क्रांति की तैयारी में मदद करेगी, जो आने वाले कुछ वर्षों में हर उद्योग को बदलने जा रही है। पुस्तक का उद्घाटन मुख्य अतिथि नितिन शाह, सीएमडी एलाइड डिजिटल सर्विसेज लिमिटेड द्वारा किया गया। उद्घाटन भाषण के दौरान नितिन शाह ने मेनफ्रेम युग से नवीनतम उच्च प्रदर्शन क्लाउड कंप्यूटिंग और अब आगामी क्वांटम कंप्यूटिंग तक की अपनी यात्रा के बारे में बात की। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि हम वर्तमान में तकनीकी क्रांति के एक रोमांचक समय में रह रहे हैं और उद्योग को क्वांटम कंप्यूटिंग और एआई जैसी नई अत्याधुनिक तकनीकों को अपनाना चाहिए। अपने भाषण के दौरान पुस्तक के लेखक उत्पल चक्रवर्ती ने उल्लेख किया कि जैसे-जैसे व्यवसाय अधिक डेटा-गहन होते जा रहे हैं वैसे वैसे ही कई महत्वपूर्ण निर्णयों के लिए वास्तविक समय डेटा अंतर्दृष्टि और पूर्वानुमान की आवश्यकता होती है। ब्रेकनेक गति से बनाए गए डेटा की भारी मात्रा से निपटने के लिए पारंपरिक शास्त्रीय कंप्यूटिंग का उपयोग करने में कठिनाई यह है कि परिणाम अक्सर पोस्टमार्टम से ज्यादा कुछ नहीं होते हैं। न केवल इन्हें क्वांटम कंप्यूटिंग के साथ पूर्ण वास्तविक समय में किया जा सकता है, बल्कि यह क्षेत्र में नई संभावनाओं की अधिकता भी प्रदान करता है। क्वांटम कंप्यूटिंग में हर डोमेन, हर व्यवसाय और हमारे जीवन के हर पहलू को बदलने की क्षमता है और क्वांटम-एआई संयोजन मानवता के लिए वरदान साबित होने वाला है। क्वांटम कंप्यूटर के पास इस तथ्य के कारण विशाल शक्ति यह है कि यह उप-परमाणु कणों के “सुपरपोजिशन” और “एंटैंगलमेंट” जैसे कुछ मूलभूत सिद्धांतों का उपयोग कर सकता है, जो एक क्लासिक कंप्यूटर सक्षम नहीं है। क्वांटम कंप्यूटर सभी डोमेन में व्यापक श्रेणी की जटिल अनुकूलन समस्याओं को हल कर सकते हैं जो पारंपरिक कंप्यूटिंग समय पर प्रदर्शन...

शिक्षाविदों और उद्योग के बीच जागरूकता लाएगी उत्पल चक्रवर्ती लिखित पुस्तक ‘क्वांटम कम्प्यूटिंग एंड फ्यूचर’

उत्पल चक्रवर्ती द्वारा लिखित पुस्तक का नाम ‘क्वांटम कंप्यूटिंग एंड फ्यूचर’ है, जो क्वांटम कंप्यूटिंग के महत्व पर शिक्षाविदों और उद्योग के बीच जागरूकता लाएगी और क्वांटम-एआई क्रांति की तैयारी में मदद करेगी, जो आने वाले कुछ वर्षों में हर उद्योग को बदलने जा रही है। पुस्तक का उद्घाटन मुख्य अतिथि नितिन शाह, सीएमडी एलाइड डिजिटल सर्विसेज लिमिटेड द्वारा किया गया। उद्घाटन भाषण के दौरान नितिन शाह ने मेनफ्रेम युग से नवीनतम उच्च प्रदर्शन क्लाउड कंप्यूटिंग और अब आगामी क्वांटम कंप्यूटिंग तक की अपनी यात्रा के बारे में बात की। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि हम वर्तमान में तकनीकी क्रांति के एक रोमांचक समय में रह रहे हैं और उद्योग को क्वांटम कंप्यूटिंग और एआई जैसी नई अत्याधुनिक तकनीकों को अपनाना चाहिए। अपने भाषण के दौरान पुस्तक के लेखक उत्पल चक्रवर्ती ने उल्लेख किया कि जैसे-जैसे व्यवसाय अधिक डेटा-गहन होते जा रहे हैं वैसे वैसे ही कई महत्वपूर्ण निर्णयों के लिए वास्तविक समय डेटा अंतर्दृष्टि और पूर्वानुमान की आवश्यकता होती है। ब्रेकनेक गति से बनाए गए डेटा की भारी मात्रा से निपटने के लिए पारंपरिक शास्त्रीय कंप्यूटिंग का उपयोग करने में कठिनाई यह है कि परिणाम अक्सर पोस्टमार्टम से ज्यादा कुछ नहीं होते हैं। न केवल इन्हें क्वांटम कंप्यूटिंग के साथ पूर्ण वास्तविक समय में किया जा सकता है, बल्कि यह क्षेत्र में नई संभावनाओं की अधिकता भी प्रदान करता है। क्वांटम कंप्यूटिंग में हर डोमेन, हर व्यवसाय और हमारे जीवन के हर पहलू को बदलने की क्षमता है और क्वांटम-एआई संयोजन मानवता के लिए वरदान साबित होने वाला है। क्वांटम कंप्यूटर के पास इस तथ्य के कारण विशाल शक्ति यह है कि यह उप-परमाणु कणों के “सुपरपोजिशन” और “एंटैंगलमेंट” जैसे कुछ मूलभूत सिद्धांतों का उपयोग कर सकता है, जो एक क्लासिक कंप्यूटर सक्षम नहीं है। क्वांटम कंप्यूटर सभी डोमेन में व्यापक श्रेणी की जटिल अनुकूलन समस्याओं को हल कर सकते हैं जो पारंपरिक कंप्यूटिंग समय पर प्रदर्शन...

Nitin Desai heralds post covid era with cultural MahaUtsav at ND Studios end-April, pays musical tribute to Bharat Ratna Lata Mangeshkar

Four-time National Award-winning and three three-time Filmfare winning Veteran Art Director Nitin Desai is once again a Newsmaker. This time for organising the MahaUtsav to bring out the art,  culture and heritage  of Maharashtra  encompassing a musical  tribute to Bharat Ratna Lata Mangeshkar at the sprawling 52 acre ND Film Studios at  Karjat. On from April 28-May 1 (11am-10pm), the  art, culture, drama,movies, food and films, the MahaUtsav as the name suggests promises workshops, fashion et al as well. The Glitterati of Tinsel Town will obviously descend at the Festival, given Nitin Desai’s illustrious career  spanning over two decades with cult films like Hum Dil De Chuke Sanam, Lagaan, Devdas, 1942 — A Love Story,  Jodhaa Akbar, Parinda, Khamoshi, Maachis, Slumdog Millionaire, Such A Long Journey,   and recent megastarrers like Prem Ratan Dhan Payo among many others.  Nitin Desai is revered and appreciated for his work with directors like Ashutosh Gowarikar, Vidhu Vinod Chopra, Sooraj R Barjatya,  Rajkumar Hirani and Sanjay Leela Bhansali among others. Considering that this festival is a tribute to the glorious  history of Maharashtra, looks like we are in for a colourful cultural extravaganza to welcome the post covid era. Nitin Desai heralds post covid era with  cultural  MahaUtsav at ND Studios end-April, pays musical  tribute to Bharat Ratna Lata...

Stylist Sneha Mundkur An Entrepreneur

Sneha Mundkur is a Fashion Stylist and a Designer. She did her Fashion Styling from Fad International Pune in 2011.In the initial start of her career she has assisted and interned with many known stylists from this field.This helped her learn,grow and mould herself into the stylist she is today.In 2012 she established her brand SSM -Stylist Sneha Mundkur. She did some short courses with  London School Of Trends in the recent years to keep herself updated. Not many know this about her but she has been designing and styling for friends and family since 2002.But has been an outstanding Illustrator from the age of 12.She quoted “I remember when my father passed away in 1999,my world had shattered(I was just 11)… But it was my doggies and my love for illustration and fashion that really pulled me through it all.My mother would support me by getting all the stationary I required even when times were difficult.” I remember people telling me ‘that the fashion world isn’t for people like you(Fat,Soft Hearted Empaths) and that you won’t survive in it’. With no support system from this field who would understand Or help me cope, with all the body shamming, verbal and mental abuse I went through silently over the years(and actually I still go through it sometimes) … All I have to say to the haters everywhere is  that yes it wasn’t easy;you guys didn’t make it easy either but Thank You for that. You made me the fighter I am today,gave me the right kind of push and helped me with this mindset “that yes it isn’t easy but it isn’t impossible either” Which has not only helped me in my professional life but also in my personal life. I am proud of myself for having my own back, never giving up and to have not only survived...

एप्निलच्या शेवटच्या आठवड्यात नितीन देसाई यांचा एनडी स्टुडिओत कोविडनंतरचा काळ साजरा करण्यासाठी सांस्कृतिक महाउत्सवभारतरत्न लता मंगेशकर यांना वाहणार संगीतमय श्रद्धांजली

मुंबई- चार वेळा राष्ट्रीय पुरस्कार विजेते आणि तीन वेळा फिल्मफेअर पुरस्कार विजेते ज्येष्ठ कलादिग्दर्शक नितीन देसाई एका नव्या उपक्रमामुळे पुन्हा एकदा चर्चेत आलेत. कर्जत येथील ५२ एकरमध्ये पसरलेल्या विस्तीर्ण एनडी फिल्म स्टुडिओमध्ये महाराष्ट्राची कला, संस्कृती आणि वारसा जगासमोर आणण्यासाठी एका महाउत्सवाचे आयोजन करण्यात आले आहे. या महाउत्सवात भारतरत्न लता मंगेशकर यांना संगीतमय श्रद्धांजली अर्पण करण्यात येणार आहे. २८ एप्रिल ते १ मे दरम्यान आयोजित हा महाउत्सव नावाप्रमाणेच महाउत्सव असणार आहे. या महाउत्सवात कला, संस्कृती, नाटक, चित्रपट आणि खाद्यपदार्थांसोबतच कार्यशाळा, फॅशन शोचेही आयोजन करण्यात येणार आहे. हम दिल दे चुके सनम, लगान, देवदास, 1942 – अ लव्ह स्टोरी, जोधा अकबर, परिंदा, खामोशी अशा कल्ट चित्रपटांचे कला दिग्दर्शक म्हणून नितीन देसाई यांची दोन दशकांहून अधिक काळ गाजलेली कारकीर्द आहे. अलिकडच्या काळातील स्लम़ॉग मिलेनियर- सच अ लआंग जर्नी आणि प्रेम रतन धन पायो हे त्यांचे गाजलेले चित्रपट. त्यांचा हा इतिहास पाहाता या महाउत्सवात टिन्सेल टाऊनची चमक नक्कीच दिसेल यात शंका नाही. आशुतोष गोवारीकर, विधू विनोद चोप्रा, सूरज आर. बडजात्या, राजकुमार हिरानी आणि संजय लीला भन्साळी अशा नामवंत आणि दिग्गज दिग्दर्शकांसोबत नितीन देसाई यांनी काम केलेले आहे.एनडी स्टुडियोतील महाउत्सव महाराष्ट्राच्या गौरवशाली इतिहासाला दिलेली उजळणी आहे. कोविड नंतरच्या युगाचे स्वागत करण्यासाठी अशा रंगीबेरंगी सांस्कृतिक कार्यक्रमाचे सगळ्यांनीच साक्षीदार होणे आवश्यक वाटते. एप्निलच्या शेवटच्या आठवड्यात नितीन देसाई यांचा एनडी स्टुडिओत कोविडनंतरचा काळ साजरा करण्यासाठी सांस्कृतिक महाउत्सवभारतरत्न लता मंगेशकर यांना वाहणार संगीतमय...

« Older Entries